Chanakya QuotesQuotes

100+ Chanakya Quotes In Hindi | Chanakya Niti Quotes

Chanakya quotes tell you many wonderful things in life and you get lots of Chanakya niti quotes in hindi
So that you can easily find them and there are also chanakya quotes on love which teach you a lot about love which nowadays It has become very important and if you have chanakya quotes on success in life, then you can become a success very quickly. And you also get all kinds of chanakya quotes hindi images which you can easily download and place chanakya niti quotes on your story, which also gives information to the people.

  • Best chanakya quotes
  • Chanakya quotes in hindi
  • Chanakya niti quotes
  • Chanakya quotes hindi
  • Quotes of chanakya
  • Chanakya quotes on success

chanakya quotes
किसी भी कार्य में पल भर का भी विलम्ब ना करें।

जो जिस कार्ये में कुशल हो उसे उसी कार्ये में लगना चाहिए।
संकट में बुद्धि भी काम नहीं आती है।
जो गुजर गया उसकी चिंता नहीं करनी चाहिए, ना ही भविष्य के बारे में चिंतिंत होना चाहिए। समझदार लोग केवल वर्तमान में ही जीते हैं।
आग सिर में स्थापित करने पर भी जलाती है। अर्थात दुष्ट व्यक्ति का कितना भी सम्मान कर लें, वह सदा दुःख ही देता है।
एक राजा की ताकत उसकी शक्तिशाली भुजाओं में होती है। ब्राह्मण की ताकत उसके आध्यात्मिक ज्ञान में और एक औरत की ताक़त उसकी खूबसूरती, यौवन और मधुर वाणी में होती है।
पुस्तकें एक मुर्ख आदमी के लिए वैसे ही हैं, जैसे एक अंधे के लिए आइना।
सबसे बड़ा गुरु मंत्र, अपने राज किसी को भी मत बताओ। ये तुम्हे खत्म कर देगा।
विद्या को चोर भी नहीं चुरा सकता।
जैसे एक बछड़ा हज़ारो गायों के झुंड मे अपनी माँ के पीछे चलता है। उसी प्रकार आदमी के अच्छे और बुरे कर्म उसके पीछे चलते हैं।
शत्रु की बुरी आदतों को सुनकर कानों को सुख मिलता है।
चोर और राज कर्मचारियों से धन की रक्षा करनी चाहिए।
भाग्य के विपरीत होने पर अच्छा कर्म भी दु:खदायी हो जाता है।

chanakya quotes on success

chanakya quotes, chanakya quotes in hindi, chanakya niti quotes, chanakya quotes hindi, quotes of chanakya, chanakya quotes on love, chanakya best quotes

शिकारपरस्त राजा धर्म और अर्थ दोनों को नष्ट कर लेता है।
शत्रुओं से अपने राज्य की पूर्ण रक्षा करें।
संधि और एकता होने पर भी सतर्क रहें।
कच्चा पात्र कच्चे पात्र से टकराकर टूट जाता है।
संधि करने वालों में तेज़ ही संधि का होता है।
किसी विशेष प्रयोजन के लिए ही शत्रु मित्र बनता है।
दुर्बल के साथ संधि ना करें।

chanakya quotes in hindi
एक आदर्श पत्नी वो है जो अपने पति की सुबह माँ की तरह सेवा करे और दिन में एक बहन की तरह प्यार करे और रात में एक वेश्या की तरह खुश करे।

वो व्यक्ति जो दूसरों के गुप्त दोषों के बारे में बातें करते हैं, वे अपने आप को बांबी में आवारा घूमने वाले साँपों की तरह बर्बाद कर लेते हैं।
जिस आदमी से हमें काम लेना है, उससे हमें वही बात करनी चाहिए जो उसे अच्छी लगे। जैसे एक शिकारी हिरन का शिकार करने से पहले मधुर आवाज़ में गाता है।
जैसे एक सूखा पेड़ आग लगने पे पुरे जंगल को जला देता है। उसी प्रकार एक दुष्ट पुत्र पुरे परिवार को खत्म कर देता है।
जो हमारे दिल में रहता है, वो दूर होके भी पास है। लेकिन जो हमारे दिल में नहीं रहता, वो पास होके भी दूर है।

chanakya quotes, chanakya quotes in hindi, chanakya niti quotes, chanakya quotes hindi, quotes of chanakya, chanakya quotes on love, chanakya best quotes

फूलों की खुशबू हवा की दिशा में ही फैलती है, लेकिन एक व्यक्ति की अच्छाई चारों तरफ फैलती है।
पृथ्वी सत्य पे टिकी हुई है। ये सत्य की ही ताक़त है, जिससे सूर्य चमकता है और हवा बहती है। वास्तव में सभी चीज़ें सत्य पे टिकी हुई हैं।
दौलत, दोस्त ,पत्नी और राज्य दोबारा हासिल किये जा सकते हैं, लेकिन ये शरीर दोबारा हासिल नहीं किया जा सकता।

chanakya niti quotes
ये मत सोचो की प्यार और लगाव एक ही चीज है। दोनों एक दूसरे के दुश्मन हैं। ये लगाव ही है जो प्यार को खत्म कर देता है।

जन्म-मरण में दुःख ही है।
शत्रु के गुण को भी ग्रहण करना चाहिए।
विद्या ही निर्धन का धन है।
भूख के समान कोई दूसरा शत्रु नहीं है।
अन्न के सिवाय कोई दूसरा धन नहीं है।
सिंह भूखा होने पर भी तिनका नहीं खाता।
शत्रु की दुर्बलता जानने तक उसे अपना मित्र बनाए रखें।

chanakya quotes, chanakya quotes in hindi, chanakya niti quotes, chanakya quotes hindi, quotes of chanakya, chanakya quotes on love, chanakya best quotes

वन की अग्नि चन्दन की लकड़ी को भी जला देती है, अर्थात दुष्ट व्यक्ति किसी का भी अहित कर सकते हैं।
ऋण, शत्रु और रोग को समाप्त कर देना चाहिए।
एक संतुलित मन के बराबर कोई तपस्या नहीं है। संतोष के बराबर कोई खुशी नहीं है। लोभ के जैसी कोई बिमारी नहीं है। दया के जैसा कोई सदाचार नहीं है।
वो जो अपने परिवार से अति लगाव रखता है भय और दुख में जीता है। सभी दुखों का मुख्य कारण लगाव ही है, इसलिए खुश रहने के लिए लगाव का त्याग आवशयक है।
चंचल चित वाले के कार्य कभी समाप्त नहीं होते।
दोषहीन कार्यों का होना दुर्लभ होता है।
समय का ध्यान नहीं रखने वाला व्यक्ति अपने जीवन में निर्विघ्न नहीं रहता।
सत्य भी यदि अनुचित है तो उसे नहीं कहना चाहिए।

chanakya quotes hindi
ढेकुली नीचे सिर झुकाकर ही कुँए से जल निकालती है अर्थात कपटी या पापी व्यक्ति सदैव मधुर वचन बोलकर अपना काम निकालते हैं।

सोने के साथ मिलकर चांदी भी सोने जैसी दिखाई पड़ती है अर्थात सत्संग का प्रभाव मनुष्य पर अवश्य पड़ता है।
किसी लक्ष्य की सिद्धि में कभी शत्रु का साथ ना करें।
सभी प्रकार के भय से बदनामी का भय सबसे बड़ा होता है।
अपने स्थान पर बने रहने से ही मनुष्य पूजा जाता है।
योग्य सहायकों के बिना निर्णय करना बड़ा कठिन होता है।
मंत्रणा को गुप्त रखने से ही कार्य सिद्ध होता है।
अपने से अधिक शक्तिशाली और समान बल वाले से शत्रुता ना करें।
शक्तिशाली शत्रु को कमजोर समझकर ही उस पर आक्रमण करें।
व्यसनी व्यक्ति कभी सफल नहीं हो सकता।
कठोर वाणी अग्नि दाह से भी अधिक तीव्र दुःख पहुँचाती है।

chanakya quotes about friendship

chanakya quotes, chanakya quotes in hindi, chanakya niti quotes, chanakya quotes hindi, quotes of chanakya, chanakya quotes on love, chanakya best quotes

शत्रु दण्ड नीति के ही योग्य है।
अर्थ और धर्म, कर्म का आधार है।
भाग्य पुरुषार्थी के पीछे चलता है।
पहले निश्चय करिए, फिर कार्य आरम्भ करें।
कठिन समय के लिए धन की रक्षा करनी चाहिए।
दूध के लिए हथिनी पालने की जरुरत नहीं होती अर्थात आवश्कयता के अनुसार साधन जुटाने चाहिए।
मनुष्य की वाणी ही विष और अमृत की खान है।

quotes of chanakya
आग में आग नहीं डालनी चाहिए। अर्थात क्रोधी व्यक्ति को अधिक क्रोध नहीं दिलाना चाहिए।

धूर्त व्यक्ति अपने स्वार्थ के लिए दूसरों की सेवा करते हैं।
स्वभाव का अतिक्रमण अत्यंत कठिन है।
जिसकी आत्मा संयमित होती है, वही आत्मविजयी होता है।
अविनीत स्वामी के होने से तो स्वामी का ना होना अच्छा है।
एक अकेला पहिया नहीं चला करता।
आत्मविजयी सभी प्रकार की संपत्ति एकत्र करने में समर्थ होता है।

chanakya quotes, chanakya quotes in hindi, chanakya niti quotes, chanakya quotes hindi, quotes of chanakya, chanakya quotes on love, chanakya best quotes

ज्ञान से राजा अपनी आत्मा का परिष्कार करता है, सम्पादन करता है।
वृद्ध सेवा अर्थात ज्ञानियों की सेवा से ही ज्ञान प्राप्त होता है।
वृद्धजन की सेवा ही विनय का आधार है।
राज्य का आधार अपनी इन्द्रियों पर विजय पाना है।
(chanakya quotes in hindi)अर्थ का आधार राज्य है।
सुख का आधार धर्म है।
कल का कार्य आज ही कर लें।
विचार अथवा मंत्रणा को गुप्त ना रखने पर कार्य नष्ट हो जाता है।
समस्त कार्य पूर्व मंत्रणा से करने चाहिएं।
ज्ञानी और छल-कपट से रहित शुद्ध मन वाले व्यक्ति को ही मंत्री बनाएँ।
अविनीत व्यक्ति को स्नेही होने पर भी मंत्रणा में नहीं रखना चाहिए।

chanakya quotes on love
स्वाभिमानी व्यक्ति प्रतिकूल विचारों को सम्मुख रखकर दुबारा उन पर विचार करें।

सुख और दुःख में समान रूप से सहायक होना चाहिए।
शासक को स्वयं योगय बनकर योगय प्रशासकों की सहायता से शासन करना चाहिए।
प्रकृति का कोप सभी कोपों से बड़ा होता है।
इन्द्रियों पर विजय का आधार विनम्रता है।
जहाँ लक्ष्मी (धन) का निवास होता है, वहाँ सहज ही सुख-सम्पदा आ जुड़ती है।
आलसी राजा अप्राप्त लाभ को प्राप्त नहीं करता।
अप्राप्त लाभ आदि राज्यतंत्र के चार आधार हैं।
छः कानों में पड़ने से (तीसरे व्यक्ति को पता पड़ने से) मंत्रणा का भेद खुल जाता है।
कार्य-अकार्य के तत्व दर्शी ही मंत्री होने चाहिए।
राजा, गुप्तचर और मंत्री तीनों का एक मत होना किसी भी मंत्रणा की सफलता है।

chanakya quotes, chanakya quotes in hindi, chanakya niti quotes, chanakya quotes hindi, quotes of chanakya, chanakya quotes on love, chanakya best quotes

मंत्रणा रूप आँखों से शत्रु के छिद्रों अर्थात उसकी कमजोरियों को देखा-परखा जाता है।
मंत्रणा के समय कर्तव्य पालन में कभी ईर्ष्या नहीं करनी चाहिए।
भविष्य के अन्धकार में छिपे कार्य के लिए श्रेष्ठ मंत्रणा दीपक के समान प्रकाश देने वाली है।
मन्त्रणा की संपत्ति से ही राज्य का विकास होता है।(chanakya quotes in hindi)
लापरवाही अथवा आलस्य से भेद खुल जाता है।
धन का लालची श्रीविहीन हो जाता है।
पूर्वाग्रह से ग्रसित दंड देना लोक निंदा का कारण बनता है।
कामी पुरुष कोई कार्य नहीं कर सकता।
जुए में लिप्त रहने वाले के कार्य पूरे नहीं होते हैं।

chanakya best quotes
चतुरंगणी सेना (हाथी, घोड़े, रथ और पैदल) होने पर भी इन्द्रियों के वश में रहने वाला राजा नष्ट हो जाता है।

ईर्ष्या करने वाले दो समान व्यक्तियों में विरोध पैदा कर देना चाहिए।
राजनीति का संबंध केवल अपने राज्य को समृद्धि प्रदान करने वाले मामलों से होता है।
राजतंत्र से संबंधित घरेलू और बाह्य, दोनों कर्तव्यों को राजतंत्र का अंग कहा जाता है।
राज्यतंत्र को ही नीतिशास्त्र कहते हैं।
शक्तिशाली राजा लाभ को प्राप्त करने का प्रयत्न करता है।
कार्य-सिद्धि के लिए हस्त-कौशल का उपयोग करना चाहिए।

Hindi quotes chanakya

chanakya quotes, chanakya quotes in hindi, chanakya niti quotes, chanakya quotes hindi, quotes of chanakya, chanakya quotes on love, chanakya best quotes

कार्य के मध्य में अति विलम्ब और आलस्य उचित नहीं है।
अस्थिर मन वाले की सोच स्थिर नहीं रहती।
कार्य का स्वरुप निर्धारित हो जाने के बाद वह कार्य लक्ष्य बन जाता है।

chanakya neeti quotes
कार्य करने वाले के लिए उपाय सहायक होता है।

आत्मरक्षा से सबकी रक्षा होती है।
दण्डनीति से आत्मरक्षा की जा सकती है।
दंड का भय ना होने से लोग अकार्य करने लगते हैं।
दंड से सम्पदा का आयोजन होता है।
प्रयत्न ना करने से कार्य में विघ्न पड़ता है।
जिन्हें भाग्य पर विश्वास नहीं होता, उनके कार्य पुरे नहीं होते।
दूध पीने के लिए गाय का बछड़ा अपनी माँ के थनों पर प्रहार करता है।

chanakya quotes, chanakya quotes in hindi, chanakya niti quotes, chanakya quotes hindi, quotes of chanakya, chanakya quotes on love, chanakya best quotes

कार्य की सिद्धि के लिए उदारता नहीं बरतनी चाहिए।
मूर्ख लोग कार्यों के मध्य कठिनाई उत्पन्न होने पर दोष ही निकाला करते हैं।

chanakya niti quotes in hindi
परीक्षा करने से लक्ष्मी स्थिर रहती है।

नीतिवान पुरुष कार्य प्रारम्भ करने से पूर्व ही देश-काल की परीक्षा कर लेते हैं।
समय का ज्ञान ना रखने वाले राजा का कर्म समय के द्वारा ही नष्ट हो जाता है।
समय को समझने वाला कार्य सिद्ध करता है।
अशुभ कार्यों को नहीं करना चाहिए।
विचार ना करके कार्य करने वाले व्यक्ति को लक्ष्मी त्याग देती है।
निम्न अनुष्ठा नों (भूमि, धन-व्यापारउधोग-धंधों) से आय के साधन भी बढ़ते हैं।
प्रत्यक्ष और परोक्ष साधनों के अनुमान से कार्य की परीक्षा करें।
जो अपने कर्म को नहीं पहचानता, वह अंधा है।

chanakya neeti quotes in hindi
जो अपने कर्तव्यों से बचते हैं, वे अपने आश्रितों परिजनों का भरण-पोषण नहीं कर पाते।

Friends, you must have seen chanakya quotes and you must have got a lot of information from all the chanakya niti quotes and if you like to share chanakya quotes on success, then you can do it to your friend too (chanakya best quotes) you can learn a lot about life and what kind of status you like, you can write in comments

Related Articles

Back to top button