suvichar

500+Suvichar In Hindi | Aaj ka suvichar Hindi Images

Friends, I have shared this Suvichar In Hindi with all of you today, people who like Hindi suvichar very much and people like this idea very well because you get so much good information from them, this good morning suvichar how should you tell in the comment and you will get good status thank you

Aaj ka suvichar
क्या खूब लिखा हैं किसी ने संगत का जरा ध्यान रखना साहब संगत आपकी ख़राब होगी और बदनाम माँ बाप और संस्कार होंगे
सीमा तो अहंकार की होती है”..समर्पण की कोई सीमा नहीं होती
कुछ लोग कह रहे हैं, त्यौहार अब फीके हो गये बुजुर्ग बोले बेटा त्यौहार नहीं व्यवहार फीके हो गये।
प्रतिभा ईश्वर से मिलती है, नतमस्तक रहें..! ख्याति समाज से मिलती है, आभारी रहें..! लेकिन,,, मनोवृत्ति और घमंड स्वयं से मिलते हैं, सावधान रहें..
जिम्मेदारियाँ भी ख़ूब.. इम्तिहान लेती हैं….! जो निभाता हैं, उसी को परेशान करती हैं!!
न परेशान किसी को कीजिये, न हैरान किसी को कीजिये, कोई लाख गलत भी बोले, बस मुस्कुरा कर छोड़ दीजिये
अगर गंदे औरे मैले कपडे से हमे शर्म आती है, तो गंदे और मैलो विचारो से भी हमे शरम आनी चाहिए !!
ज़िन्दगी की हर सुबह कुछ शर्ते लेकर आती है और ज़िन्दगी की हर शाम कुछ तजुर्बे देकर जाती ह
मन में उतरना और मन से उतरना केवल.. मनुष्य के व्यवहार पर निर्भर करता है।

Suvichar In Hindi

उम्र में चाहे कोई बड़ा या छोटा हो, लेकिन वास्तव में बड़ा तो वही है, जिसके दिल में सबके लिए प्रेम, स्नेह और सम्मान की भावना हो॥
पैसे का गुरुर मत करो वक्त बडा बादशाह है! स्टेशन पर भीख मांगने वाली “रानू” रातोरात AC में सो रही है!
कहीं कोरोडों का मालिक “चिदंबरम” जेल में सो रहा है!
बिना संघर्ष के इन्सान चमक नहीं सकता, यारों., जो जलेगा उसी दिये में तो, उजाला होगा…।
पात्र ओर कूपात्र में बहुत अंतर हे.. गाय घाँस खाकर भी दूध देती हे
गलत सोच और गलत अंदाजा.. इंसान को हर रिश्ते से , गुमराह कर देता है..।
उस पछतावे के साथ मत जागिये, जिसे आप कल पूरा नहीं कर सके, उस संकल्प के साथ जागिये जिसे आपको आज पूरा करना है
वक्त ” कहता है मैं फिर न आऊंगा, मुझे खुद नहीं पता तुझे हसाऊंगा या रुलाऊंगा,जीना है तो इस पल को जी ले,”क्योंकि” मै किसी भी हाल में इस पल को, अगले पल तक रोक न पाऊंगा।
कोई आपको धोखा दे यह उसकी गलती है वही इंसान फिर धोखा दे यह आपकी गलती है।
गालिब ने भी क्या खूब लिखा है…दोस्तों के साथ जी लेने का मौका दे दे ऐ खुदा…तेरे साथ तो मरने के बाद भी रह लेंगें ।….
अगर कुछ अलग करना है तो भीड़ से हटकर चलो..! भीड़ साहस तो देती है पर पहचान छीन लेती है…!
जिंदगी तो अपने हिसाब से ही जीनी चाहिए… लोगों को खुश रखने के चक्कर में तो..शेर को भी सर्कस में नाचना पड़ता है !!
जरा सी जिन्दगी में, व्यवधान बहुत हैं, तमाशा देखने को यहाँ, इन्सान बहुत हैं !!
Suprabhat suvichar
खुद ही बनाते हैं हम, पेचीदा जिंदगी को, वर्ना तो जीने के नुस्खे, आसान बहुत हैं !!
पूरे ब्रह्माण्ड में जबान ही एक ऐसी चीज़ है.. जहाँ पर जहर और अमृत एक साथ रहतें है।
“गलतियाँ”, “विफलता”, “अपमान”, “निराशा” और “अस्वीकृति”, ये सभी “उन्नति” और “विकास” का ही एक हिस्सा है।
इंसान की अच्छाई पर, सब खामोश रहते हैं…चर्चा अगर उसकी बुराई पर हो, तो गूँगे भी बोल पड़ते हैं..!!!
कल शीशा था, सब देख-देख कर जाते थे। आज टूट गया, सब बच-बच कर जाते हैं। समय के साथ, देखने और इस्तेमाल का नजरिया बदल जाता है

Hindi suvichar

अपनों पर भी उतना ही विश्वास रखिये… जितना दवाइयों पर रखते हैं…
बेशक थोड़े कड़वे होंगे.. पर आपके लिये फ़ायदेमंद ही होंगे।।
परिवर्तन से डरना और संघर्ष से कतराना, मनुष्य की सबसे बड़ी कायरता है ! जीवन का सबसे बड़ा गुरु वक्त होता है, क्योंकि जो वक्त सिखाता है वो कोई नहीं सीखा सकता !
सत्य को ख्वाहिश होती है कि… सब उसे जान ले और झूठ को हमेशा डर लगता है कि… कोई उसे पहचान न ले
मुस्कुराते रहिए…… कभी अपने लिये कभी अपनों के लिये
ज़िन्दगी को समझने में, वक़्त न गुज़ारो, थोड़ी जी लो पूरी समझ में आ जायेगी !!!
प्रसन्न व्यक्ति वह है, जो निरन्तर स्वयं का मूल्यांकन करते हुए सुधार करता है|

Good morning suvichar

दुखी व्यक्ति वह है, जो सिर्फ दूसरों का मूल्याकंन करते हुए हर समय उनकी बुराई, आलोचना, निन्दा एवं ईर्ष्या करता है!
“दुनियां के रैन बसेरे में पता नही कितने दिन रहना हैं, “जीत लें सबके दिलों को.. बस यही जीवन का गहना हैं।”
भाग्य और झूठ के साथ जितनी ज्यादा उम्मीद करोगे, वो उतना ही ज्यादा निराश करेगा, और.. कर्म और सच पर जितना जोर दोगे, वो उम्मीद से सदैव ही ज्यादा देगा.!!
बहुत ही आसान है, ज़मीं पर मकान बना लेना…दिल में जगह बनाने में ज़िन्दगी गुज़र जाती है..!!!
उत्तम से सर्वोत्तम वही हुआ है…जिसने अपनी आलोचनाओं को धैर्यपुर्वक सुना और सहा है!
ना जख्म देन आता है…ना जख्म पालना आता है lना नमक ना मिर्च डालना….हमें तो दूध में शक्कर सा मिल जाना आता है l
ज़िन्दगी की हर सुबह कुछ शर्ते लेकर आती है और ज़िन्दगी की हर शाम कुछ तजुर्बे देकर जाती है
इतना मत बोलों की लोग चुप होने का इंतजार करें, इतना बोलकर चुप हो जाओ की लोग दोबारा सुनने का इंतजार करें

Suvichar hindi

“गति” के लिए “चरण” और “प्रगति” के लिए “आचरण” बहुत जरूरी है.
Suvichar hindi me
सफलता ही सही और गलत का एकमात्र सांसारिक निर्णायक है.
मानवतावाद मूर्खता और कायरता की अभिव्यक्ति है.
महान असत्यवादी महान जादूगर भी होते हैं।
अंदाज कुछ अलग हैं, मेरे सोचने का.!!!
सबको मंजिल का शोक हैं.!! और मुझे सही रास्तों का.!!!
कुछ ख्वाइशों का कत्ल करके मुस्कुरा दो… जिंदगी खुद-ब-खुद बेहतर हो जायेगी..!!
विचार से कार्य की उत्पत्ति होती है कर्म से आदत की उत्पत्ति होती है और चरित्र से आपके भाग्य की उत्पत्ति होती है
तूफान में कश्तियां और अभिमान में हस्तियां डूब जाती हैं. रिश्ते वक़्त की कमी से नहीं अहसासों की कमी से बिखरते हैं!!
फर्क होता है, खुदा और फकीर में ! फर्क होता है, किस्मत और लकीर मे ! अगर कुछ चाहो और, वो ना मिले, तो समझ लेना की, कुछ ओर अच्छा लिखा हैं, तकदीर मे!
जहाँ प्रयत्नों की ऊंचाई अधिक होती है ||वहां नसीबों को भी झुकना है
अपने खिलाफ बाते, खामोशी से सुन लो… यकीन मानो वक्त, बेहतरीन जवाब देगा..!!
प्रकृति ने सिर्फ दो ही रास्ते दिए है, या तो देकर जाये, या फिर छोड़कर जाये, साथ ले जाने की कोई व्यवस्था नहीं है”
महान असत्यवादी महान जादूगर भी होते हैं।
हम उम्मीद करते हैं की विश्व प्रबुद्ध स्वार्थ की भावना से काम करेगा
प्रसन्न व्यक्ति वह है, जो निरन्तर स्वयं का मूल्यांकन करते हुए सुधार करता है,
जबकि दुखी व्यक्ति वह है, जो सिर्फ दूसरों का मूल्याकंन करते हुए हर समय उनकी बुराई, आलोचना, निन्दा एवं ईर्ष्या करता है!!
कुछ लोग कह रहे हैं, त्यौहार अब फीके हो गये बुजुर्ग बोले बेटा त्यौहार नहीं व्यवहार फीके हो गये।
मिट्टी के दीपक सा है ये जीवन.. तेल खत्म खेल खत्म…
लोगों ने साथ नहीं दिया तो अफ़सोस मत करना, ख़्वाब आपके हैं तो कोशिश भी आपकी ही होनी चाहिये…
हर पल में प्यार है, हर लम्हे में ख़ुशी है ..!खो दो तो यादें हैं, जी लो तो ज़िंदगी है ..!!
अंदाज कुछ अलग हैं, मेरे सोचने काnसबको मंजिल का शोक हैं और मुझे सही रास्तों का
लोग कहते हैं, पैसा रखो, बुरे वक्त में काम आयेगा. हम कहते है अच्छे लोगों के साथ रहो, बुरा वक्त ही नहीं आयेगा.
गलत वह नहीं था, जिन्होंने धोखा दिया। गलत मैं ही था, जिसने मौका दिया।
मुसीबत सब पर आती है, कोई बिखर जाता है और कोई निखर जाता है.

Suprabhat suvichar

दोस्त ही है जो हाल पूछते है वर्ना बच्चे वसीयत पूछते है और रिश्ते हैसियत
“चलते रहे कदम तो किनारा जरुर मिलेगा । अन्धकार से लड़ते रहे सवेरा जरुर खिलेगा ।
जब ठान लिया मंजिल पर जाना रास्ता जरुर मिलेगा । ए राही न थक, चल. एक दिन समय जरुर फिरेगा…।
सुबह का मतलब केवल सूर्योदय नहीं होता, यह सृष्टि की खूबसूरत घटना है जहां अंधकार को मिटाकर सूरज नई उम्मीदों का उजाला फैलाता है|
हालात वो ना रखे जो हौसलो को बदल दे। बल्कि हौसला वो रखो जो हालातो को बदल दे।
जिंदगी एक बार ही सही… लेकिन ऐसे शख्स से जरूर मिलवाती है जिसके साथ हम अपना सबकुछ बाँटना चाहते है..
“ज़िन्दगी” में कभी किसी बुरे दिन से सामना हो तो, इतना “हौसला” जरूर रखना दिन बुरा था, ज़िन्दगी नहीं.
समय बीत जाने के बाद कद्र की जाए, तो वो कद्र नही अफसोस कहलाता है।
रिश्ता बहुत गहरा हो या न हो लेकिन भरोसा बहुत गहरा होना चाहिये.
उम्र में चाहे कोई बड़ा या छोटा हो, लेकिन वास्तव में बड़ा तो वही है, जिसके दिल में सबके लिए प्रेम, स्नेह और सम्मान की भावना हो॥
जब आपके मित्रों की संख्या बढने लगे तो यह समझ लीजिये, कि आप ने व्यवहार कुशलता का जादू सीख लिया है।
किसी ने पूछा इस दुनिया में, आपका अपना कौन हैं. मैंने हंसकर कहा. “समय”, अगर वो सही, तो सभी अपने,वरना कोई नहीं.
हर इंसान में कोई न कोई प्रतिभा है, लेकिन लोग दूसरों जैसा बनने की कोशिश में इसे नष्ट कर देते हैं.
भरोसा ” ईश्वर ” पर है, तो जो लिखा है तकदीर में, वो ही पाओगे… मगर , भरोसा अगर ” खुद ” पर है , तो ईश्वर वही लिखेगा , जो आप चाहोगे
जिंदगी के हर मोड़ पर हमे वही करना चाहिये….. जो हमारा दिल हमसे कहे, क्योंकि जो दिमाग कहता है वो “मज़बूरी” होती है, और जो दिल कहता है वो “मंजूरी” होती है….
हमेशा आनन्द में रहने के लिए सुविधाओं की नहीं… बल्कि समझ या समाधान की जरूरत होती है..!

इंसान जन्म के कुछ ही वर्षो के बाद बोलना सीख जाता है। लेकिन बोलना क्या है ये सीखने में उसे पूरा जन्म लग जाता है।[/su_note]

संगत मे शुद्ध विचार और पंगत मे शुद्ध आहार न हो तो छोड़़ देने मे ही बुद्धिमानी है।

Aaj ka suvichar

हीरा बनाया है … ईश्वर ने हर किसी को…. पर चमकता वही है जो .. तराशने की हद से गुज़रता है…..!
नींद और निंदा पर जो विजय पा लेते हैं, उन्हें आगे बढ़ने से कोई नहीं रोक सकता।
प्रकृति ने सिर्फ दो ही रास्ते दिए है, या तो देकर जाये, या फिर छोड़कर जाये, साथ ले जाने की कोई व्यवस्था नहीं है”
अच्छी सोच, अच्छी भावना, अच्छा विचार मन को हल्का करता है
समय’ न लगाओ तय करने में, आपको क्या करना है वरना ‘समय‘ तय कर लेगा कि, आपका क्या करना है..
Suvichar hindi
जहाँ प्रयत्नों की उंचाई अधिक होती हैं वहाँ नसीबो को भी झुकना पड़ता हैं
माना दुनियाँ बुरी है सब जगह धोखा है,लेकिन हम तो अच्छे बने हमें किसने रोका है..
खुद का माइनस पाइंन्ट जान लेना..!जिंदगी का सबसे बड़ा प्लस पाइंन्ट है|
मँज़िले बड़ी ज़िद्दी होती हैँ , हासिल कहाँ नसीब से होती हैं !
मगर वहाँ तूफान भी हार जाते हैं , जहाँ कश्तियाँ ज़िद पर होती हैँ !
ज़िंदगी में सिर्फ़ ” शहद ” ही ऐसा पदार्थ है जिसको सौ साल के बाद भी खाया जा सकता है
और “शहद ” जैसी बोली से सालों साल तक लोगों के दिलों में राज किया जा सकता है……
जो आपके शब्दों का “मूल्य” नहीं समझता, उसके सामने मौन रहना ही बेहतर है।
किसको क्या मिले इसका कोई हिसाब नहीं., तेरे पास ‘रूह’ नहीं, मेरे पास ‘लिबास’ नहीं .
स्वयं का दर्द महसूस होना जीवित होने का प्रमाण है लेकिन दूसरों का दर्द महसूस करना इन्सान होने का प्रमाण है
प्रसन्न व्यक्ति वह है, जो निरन्तर स्वयं का मूल्यांकन करते हुए सुधार करता है,,

Suvichar hindi me

जबकि दुखी व्यक्ति वह है, जो सिर्फ दूसरों का मूल्याकंन करते हुए
हर समय उनकी बुराई, आलोचना, निन्दा एवं ईर्ष्या करता है!!
फूलो में भी कीड़े पाये जाते हैं.., पत्थरों में भी हीरे पाये जाते हैं… बुराई को छोड़कर अच्छाई देखिये तो सही.., नर में भी नारायण पाये जाते हैं..!
इंसान दो मामलों में बेबस है, दुख बेच नहीं सकता, और सुख खरीद नहीं सकता है.!!
बहुत ही आसान है,ज़मीं पर मकान बना लेना.. दिल में जगह बनाने में ..ज़िन्दगी गुज़र जाती है..!!
समझना है ज़िन्दगी तो पीछे देखें, जीना है ज़िन्दगी तो आगे देखें.
शब्दों का अहम किरदार होता है दूरियां बढाने में….. कभी हम समझ नही पाते हैं, और कभी समझा नही पाते हैं…..
तुम मुझे पसंद करो या मुझसे नफरत, दोनो ही मेरे पक्ष में हैं।
क्योंकि अगर तुम मुझको पसंद करते हो तो, मैं आपके दिल में हूँ, और अगर तुम मुझ से नफरत करते हो , तो मैं आपके दिमाग में हूं !! पर रहूंगा आप के पास ही
ज़िन्दगी की सारी शिकायत ऐसे ही ठीक हो जाएँ, अगर लोग एक दूसरे से बोलना सीख जाएँ…!
माना कि पुरूष बलशाली है, मगर जीतती हमेशा नारी है! क्योकि सांवरिया के छ्प्पन(56) भोग पर, सिर्फ़ एक तुलसी भारी है l
Suvichar in hindi
घर में सोफासेट हो, डिनरसेट हो, टीवीसेट हो, मेकअप सेट हो पर “माइंडसेट” न हो, तो आप कहीं भी सेट नही हो सकते !
Back to top button